अच्छी नींद के लिए आहार

अच्छी नींद के लिए आहार

काम के बोझ के चलते इस तकनीकी युग में हर कोई नींद व उससे संबंधित परेशानियों से जूझ रहा है। अच्छी सेहत के लिए शरीर का आरामदायक नींद लेना महत्वपूर्ण है। अच्छी नींद के लिए कुछ आहार लाभदायक है और कुछ हनिहारक। आइये जाने उनके बारे मेँ –
लाभदायक –
कॉटेज चीज –
रात में खाने में लिया गया प्रोटीन , पाचन को धीमा कर , मांसपेशियां तक धीरे -धीरे पहुँचता है, परन्तु कॉटेज चीज में पाया जाने वाला अमीनो एसिड ट्रिप्टोफेन प्राकृतिक रूप से सोने मेँ मदद करता है।
ओट्स –
ओट्स हल्का खाना मेँ भी आसान होता है। ओट्स का कार्बोहाइड्रेट सिरोनाइन नामक पदार्थ रिलीज करता है , जिससे नींद अच्छी आती है। इससे स्ट्रेस दूर भगाता है।
मूंगफली/ पीनट बटर –
मूंगफली में वसा मुख्य रूप से पाई जाती है। कार्बोहाइड्रेट के आलावा इसमें नायसीन होने पर यह शरीर को भरपूर पोषण देती है और नींद लाने में अच्छी भूमिका निभाती है।
गर्म दूध –
दादी के नुस्खों मेँ सोते समय गर्म दूध पाया जाता है। कैल्शियम और ट्रिप्टोफेन से दिमाग मे मेलटोनाइन बनता है , जो जल्दी और मीठी नींद लाने मे मदद करता है।
अंगूर-
यह मौसमी फल बहुत सारे विटामिन्स मिनरल्स से शरीर को पोषित करने के साथ प्राकृतिक नींद में भी सहायक है।
केला –
कार्बोहाइड्रेड -पोटेशियम का प्रमुख स्रोत केला शरीर की मांसपेशियों को रिलेक्स कर अच्छी नींद देता है। बच्चो को रोज इसका सेवन करना चहिये।
चैरी –
विटामिन्स से भरपूर चैरी विटामिन सी , पोटेशियम जैसे मिनरल के आलावा मेलाटोनिन स्त्रावित करती है , जिसे दिमाग शांत होते ही नींद आने लगती है।
अलसी –
ओमेगा ३-६ फैटी एसिड से युक्त अलसी बहुत ही उपयोगी खाद्य पदार्थ है। बाल , नाख़ून , त्वचा को पोषण देने , पाचन क्रिया को दुरुस्त करने के अलावा यह तनाव , अवसाद को भी दूर भगाती है , जिससे नींद लेने में आसानी होती है।
उबला -माथा आलू –
लो ग्लाइसिमिक इंडेक्स और कार्बोहाइड्रेट युक्त होने पर यह ब्लड शुगर को ज्यादा प्रभावित नहीं करता। जमीन की अंदर होने वाली सब्जी होने की वजह से यह उन कारकों को रोकता है , जो ट्रिप्टोफेन अमीनो एसिड के रिलीज होने को ब्लॉक करतें हैं जिससे नींद आती है।
चामोमली चाय –
वैसे तो चाय सुस्ती दूर करती है , पर साधारण चाय की बजाय चामोमाली चाय राहत पहुंचाती है और अनिद्रा में लाभकारी है।
इन सभी पदार्थो के आलावा अच्छी नींद के लिए बीन्स , साबुत अनाज , चावल , सनफ्लॉवर के बीज , सोया मिल्क ,. छाछ/ दही भी बहुत लाभकारी हैं।
हानिकारक –
आइसक्रीम –
दूध होने पर भी इसमें चीनी अधिक होती है। चीनी होने की वजह से कैलोरी ज्यादा मिलती है और शरीर को आराम नहीं मिल पाता है।
सैलेरी –
यह शरीर से पानी बाहर निकलती है। इसलिए गहरी नींद को बाधित करती हैं।
पास्ता –
ग्लाइसिमिक इंडेक्स ज्यादा होता है। मैदा अपच बढ़ाता है। पास्ता ब्लड शुगर , ब्लड प्रेशर को भी नुकसान पहुंचाता है।
पिज्जा –
मैदा की रोटी , चीज , विनेगर , सॉस आदि सामग्रियां अपच करती हैं। यह शरीर को भारी बनाकर एसिडिटी उतपन्न करने में आगे रहता है।
डार्क चॉकलेट व कैंडीज –
हाइ शुगर व कैफीन नींद को प्रभावित करने में ९९ प्रतिशत सक्षम हैं। इसलिए भी सुस्ती दूर भगाने के लिए इनका उपयोग किया जाता है। कॉफी भी नहीं लेनी चाहिये।
एल्कोहल – लेट नाइट पार्टीज मेँ गलत खान -पान और एल्कोहल सामान्य नींद के लिए सही नहीं है। एल्कोहल नर्वस सिस्टम की उत्तेजना को शांत नहीं होने देता , जिससे सो कर उठने पर भी आराम व तरोताजा महसूस नहीं किया जाता।
लहसुन – शरीर के लिए बहुत लाभदायक होकर भी लहसुन नींद का दुश्मन है। यह एसिडिटी बढ़ाकर नींद खराब करता है।

Leave a Reply

Close Menu
×
×

Cart