सौंदर्य एवं आयुर्वेदिक

सौंदर्य एवं आयुर्वेदिक

नेचुरल हेयर प्रोडक्टस जो रखें आपके बालों को स्वस्थ (Natural Hair Products for Healthy Hair)

कलर, डाई, जेल या अन्य हेयर प्रोडक्ट्स बालों की सेहत को बिगाड़ते हैं। बालों की सेहत बालों की जड़ से है। बालों की जड़ों को पोषण कुदरती जड़ी-बूटियों, तेल, पत्तियों के पेस्ट और फलों के हेयर पैक से मिलती है। आइए जानते हैं स्वस्थ बालों के लिए टिप्स (Tips for Healthy Hair) के बारे में जो बालों की जड़ों को पोषण देते है और बालों को सेहतमंद बनाते हैं।

बालों की तेल से मालिश करें इसके लिए नारियल तेल, बादाम तेल, अरंडी का तेल, जैतून का तेल या भृंगराज तेल इत्यादि का प्रयोग करें। बालों की जड़ (Scalp) की मसाज रोजाना पांच मिनट तक करें। इससे हेयर फॉलिकल में ब्लड सर्कुलेशन बढ़ेगा और बालों की जड़ मजबूत होगी।
महाभृंगराज (Mahabhringraj):- महाभृंगराज को बालों की देखभाल में सर्वोत्तम माना गया है। इसे आयुर्वेद में हर्बल किंग के नाम से जाना जाता है। यह बालों को सफेद होने, झड़ने और टूटने से बचाता है। इसके इस्तेमाल से बाल काले, घने, लंबे और चमकदार बने रहते हैं। भृंगराज का सेवन सुबह चूर्ण बना कर खाने में किया जाता है। इसके बने तेल को भी बालों की जड़ों में लगाया जाता है। इसे पीस कर पेस्ट बनाते हैं और फिर बालों में लगाते हैं।
बालों की जड़ों को पोषण देने के लिए अच्छी डाइट लें। अपनी डाइट में ऐसे फूड को शामिल करें जिसमें विटामिन ए, बी, सी, ई के साथ-साथ आइरन, जिंक, मैग्नेशियम और सेलेनियम जैसे तत्वों की अच्छी मात्रा मौजूद हो। बालों में अंडे का मास्क लगाएं। अंडे में प्रोटीन के साथ वो सारे जरुरी तत्व जैसे- आइरन, सल्फर, फॉस्फोरस, जिंक और सेलेनियम पाए जाते हैं जिससे बालों को पोषण मिलता है।
बालों में कंघी दिनभर में 2 से 3 बार करें। ज्यादा कंघी करने या एकदम कंघी ना करने से भी बालों पर गलत इफ़ेक्ट पड़ता है। बाल झड़ने लगते हैं जिससे हेयर ग्रोथ रुक जाती है।
टी ट्री ऑइल: टी ट्री ऑइल सिर की त्वचा में तेल का संतुलन बनाने में सहायक होता है और सिर से निकलने वाले फ्लेक्स को दूर करता है। यह एंटी-फंगल और एंटी-बैक्टीरियल है। अत: यह डैंड्रफ के उपचार में सहायक है क्योंकि सिर की त्वचा में फंगल इंफेक्शन होने पर ही डैंड्रफ होता है।
मेथी (Methi):- मेथी सबसे प्रचलित हर्ब्स है जो हर घर के किचन में दाल को छौंकने और कई तरह के व्यंजनों में इस्तेमाल किया जाता है। आयुर्वेद में इसे हेयर ग्रोथ के लिए दवा के रुप में इस्तेमाल किया जाता है। मेथी दानों को रात भर पानी में भिगाकर सुबह उसका पेस्ट बनाएं। इस पेस्ट को बालों पर मेहँदी की तरह लगाएं।बाल काले, घने और लंबे होंगे।
आंवला : बचपन से सुनते आ रहे हैं कि आंवला सेहत के साथ बालों के लिए भी काफी अच्छा होता है। पोषक तत्वों से भरे इस लाभकारी फल में विटामिन सी का मात्रा काफी होती है, जो बालों के विकास के लिए काफी अच्छा होता है। बालों के झड़ने-गिरने की समस्या का सबसे सटीक इलाज आंवला के सेवन से ही होता है। आंवला जल से बाल धोना, बालों की जड़ में आंवला तेल की मालिश, सुबह आंवला चूर्ण का सेवन समेत आंवले का इस्तेमाल कई तरीके से बालों की देखभाल के लिए किया जाता है। आंवला में विटामिन सी की मात्रा सबसे ज्यादा होती है जो हेयर ग्रोथ के लिए काफी जरुरी है।
दोमुंहे बालों से छुटकारा, जैतून का तेल दोमुंहे बालों पर काफी अच्छा काम करता है अतः इस तेल को अच्छे से दोमुंहे बालों पर लगाएं और स्वयं परिणाम देखें।
आजकल लोग सुन्दर दिखने के लिए बालों की नयी नयी स्टाइल का प्रयोग करते हैं। पर जैसे ही आप घर वापस आएं, बालों की देखभाल करें और उन्हें अच्छे से साफ़ करके उनपर तेल लगाएं। बालों को ज़्यादा गर्मी देने से परहेज करें।
खट्टी दही में चुटकी भर फिटकरी मिला लें, साथ ही थोड़ी सी हल्दी भी मिला लें। इस मिश्रण को सिर के बालों में लगाने से सिर की गंदगी तो दूर होती ही, साथ ही सिर में फैला संक्रमण भी दूर होता है। इस क्रिया को…

Leave a Reply

Close Menu
×
×

Cart