Diabetes (मधुमेह), डायबिटीज के कारण , व घरेलू उपचार

Diabetes (मधुमेह), डायबिटीज के कारण , व घरेलू उपचार


संसार भर में मधुमेह रोगियों की संख्या तेजी से बढ़ रही है विशेष रूप से भारत में। इस बीमारी में रक्त में ग्लूकोज का स्तर सामान्य से अधिक बढ़ जाता है तथा रक्त की कोशिकाएं इस शर्करा को उपयोग नहीं कर पाती। यदि यह ग्लूकोज का बढ़ा हुआ लेवल खून में लगातार बना रहे तो शरीर के अंग प्रत्यंगों को नुकसान पहुँचाना शुरू कर देता है।

डाइबिटीज़ के दो प्रमुख प्रकार हैं जिन्हें टाइप 1 व टाइप 2 कहा जाता है। टाइप 1 का डाइबिटीज़ टाइप 2 से अलग होता है। इसमें शरीर इन्सुलिन का उत्पादन पूर्ण रूप से बंद कर देता है। टाइप 2 डाइबिटीज़ सामान्यत: बुजुर्गों में पाया जाता है तथा इसमें शरीर पर्याप्त मात्रा में इन्सुलिन का उत्पादन नहीं कर पाता या व्यक्ति स्वयं ही अपने इन्सुलिन का प्रतिरोधी हो जाता है।

डायबिटीज के कारण (Causes of Diabetes )-

खान पान एवं लाइफ स्टाइल की गलत आदतें जैसे मधुर एवं भारी भोजन का अधिक सेवन करना, चाय, दूध आदि में चीनी का ज्यादा सेवन, कोल्ड ड्रिंक्स एवं अन्य सॉफ्ट ड्रिंक्स अधिक पीना, शारीरिक परिश्रम ना करना, मोटापा, तनाव, धूम्रपान, तम्बाकू, आनुवंशिकता आदि डायबिटीज के प्रमुख कारण हैं ।

कसरत की सहायता से डाइबिटीज़ के मरीजों में आने वाली कई समस्यायों जैसे हृदय से संबंधित समस्याएं, हाई ब्लड प्रेशर तथा परिसंचरण तंत्र से संबंधित समस्याएं आदि को रोका जा सकता है। कसरत से ब्लड प्रेशर कम होता है तथा सम्पूर्ण शरीर में रक्त प्रवाह बढ़ता है। क्योंकि डाइबिटीज़ के मरीजों में रक्त प्रवाह बहुत धीमा या बहुत कम होता है अत: व्यवस्थित रक्त प्रवाह से उन्हें बहुत लाभ होता है।

चुकंदर डायबिटीज के मरीज़ के लिए फायदेमंद होता है:- अगर आप डायबिटीज से ग्रसित हैं तो आपको अपने खाने में चुकंदर ज़रूर लेना चाहिए। आप इसे उबाल कर, कच्चा या सलाद के रूप में खा सकते हैं।

मधुमेह के रोगियों को अधिक पानी पीना चाहिए:- पानी का सेवन आपकी कैलोरी ग्रहण की मात्रा पर निर्भर करता है। यदि आप एक दिन में 2000 कैलोरी का सेवन करते हैं तो आपको 2 लीटर पानी पीना चाहिए। आप चाहे तो 2 के बजाय 3 लीटर पानी का सेवन भी कर सकते हैं बशर्ते है कि आपको गुर्दों की समस्या ना हो। यदि आप पेशाब की सही आवृत्ति के लिए किसी दवाई का सेवन कर रहे हैं तब पानी का सेवन ध्यान से करना होगा।

डायबिटिक फुट केयर:- दुनिया भर में डायबिटीज (मधुमेह) की वजह से हर 30 सेकंड में एक पांव खराब हो जाता है। डायबटीज हो और पैरों में चोट लग गई हो, तो पैरों को अच्‍छी तरह साफ रखें। घाव या चोट पर गंदगी न जमने दें। बीटाडाइन आदि से अच्‍छी तरह साफ कर लें और इस पर कोई दबाव न डालें। अगर घर में गॉज पट्टी रखी हुई हो तो उससे ड्रेसिंग कर लें।

घरेलू उपचार : –

मधुमेह का तीसरा घरेलू उपचार इस प्रकार है कि 150 ग्राम दूध ले लीजिये.
इसमें 1 कप काले चने रातभर भिगो कर रख दीजिये.
सुबह इन काले चनों को खाना चाहिये.
इससे मधुमेह का रोग नियंत्रित रहता है.
योग:- योग मुद्रासन विधि : पद्मासन में बैठकर दोनों हाथों को पीठ के पीछे ले जाकर दाएँ हाथ से बाएँ हाथ की कलाई को पकड़े। फिर श्वास बाहर छोड़ते हुए भूमि पर ठोड़ी स्पर्श करें। इस दौरान दृष्टि सामने रखें। ठोड़ी यदि भूमि पर नहीं लगती है, तो यथाशक्ति सामने झुकें।

Leave a Reply

Close Menu
×
×

Cart